ICSE Full Form | ICSE Board | What is difference between ICSE & CBSE?

5
364
ICSE Full Form | ICSE Board | What is difference between ICSE & CBSE?

Hello दोस्तों ,आपका स्वागत है हमारी वेबसाइट click link में। आज हम आपको ICSE Board की सम्पूर्ण जानकारी देंगे की full form of ICSE क्या है ? तथा ICSE full form board और ICSE Full Form Hindi में मतलब क्या होता है? ICSE Borad की स्थापना कब हुई ? ICSE Schools कैसे ढूंढे ?ICSE Board का Exam कब होता है? और कैसे ICSE different from CBSE ? आपके सभी सवालों के जवाब भी इस पोस्ट में मिल जायँगे।

What is the full form of ICSE?

सबसे पहले हम बताते है की  ICSE Full FormIndian Certificate of Secondary Education होता है। इस board का काम भारत और अन्य देशों में शिक्षा प्रदान जैसे गतिविधियॉ को अंजाम देना होता है। Council for the Indian School Certificate Examination यह वह प्रमाणपत्र मिलता है जो student 10 वीं की परीक्षा पास करते है उन स्कूल से जिनको ICSE से मायता मिली होती है.

ICSE का Hindi Full Form-  “माध्यमिक शिक्षा के भारतीय प्रमाण पत्र” है।

ICSE Full Form in Marathi – भारतीय माध्यमिक शिक्षणाचे प्रमाणपत्र

ICSE एक private शिक्षक संस्था है जो सभी माध्यमिक शिक्षा सम्बंधित कार्यो को करती है। इसकी सभी official काम English medium में होते है। English language का बहुत प्रचलन रहता है इसी वजह से इस ICSE board syllabus इंग्लिश medium में है। 

ICSE Bord की स्थापना कब की गयी?

ICSE बोर्ड की स्थापना 1956 में हुई थी। ICSE बोर्ड का headquarters नई दिल्ली (भारत की राजधानी ) में स्थित हैं।भारत की “New Education Policy” 1986 के अनुसार सभी schools ,college other educational  institute के syllabus होंगे और जिसमे एक परीक्षा प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।

Objectives of ICES Board ( ICSE के प्रमुख उद्देश्य)

ICSE भारतीय स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा परिषद (CISCE) के साथ मिल कर काम करती है। यह एक प्राइवेट शिक्षा बोर्ड है जिस पर सरकार द्वारा कोई हटक्षेपे नहीं किया जा सकता है। ICSE Board का ख्यालय New Delhi में स्थित है। भारत में होने वाली सभी परीक्षाओ को एक सूचारू रूप से Cambridge University Exam के अंतर्गत काम करता है। यह मुख्य तीन तरह के exams conduct करता है।

  1. ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) – 10 वीं कक्षा के लिए
  2. CVE (Certificate for Vocational Education) – 12 वीं कक्षा के लिए
  3. ISC (Indian School Certificate) – 12 वीं कक्षा के लिए

ICSE Full FormIndian Certificate of Secondary Education

ICSE Board की प्रमुख विशेषतायें

  • सभी विषयों को एक कतरबद्ध तरीके से हैंडल करता है जैसे भाषा, गणित,Art ,Science, इत्यादि ।
  • इस बोर्ड में छात्र अपनी choice से विषयों का चयन कर सकते है।
  • ICSE बोर्ड छात्रों के personal skill development जैसे course को भी आपने subject में रखता है।
  • इस बोर्ड में 20 से अधिक भारतीय भाषाऐ और 12 विदेशी भाषाओं में आप शिक्षा ग्रहण कर सकते है।
  • आपको भारत में ही ICSE के schools नहीं मिलेंगे बल्कि Singapore , UAE जैसे अन्य देशों में 1000 से  अधिक स्कूल है।

What is difference between ICSE & CBSE?

  • CBSE (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) यह भारत सरकार द्वारा नियंत्रित करने वाला शैक्षिक संस्थान है ,दूसरी तरफ ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) एक प्राइवेट शैक्षिक संस्थान है। भारत में 1958 में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए प्राइवेट बोर्ड का गठन किया गया था
  • ICSE (1958 ) CBSE (1962 )से पुराना है।
  • भारत में CBSE से मान्यता प्राप्त schools ICSE से मान्यता प्राप्त schools  की संख्या से कई गुना अधिक है।
  • ICSE में CBSE की तुलना में अधिक विषय ,भाषए और व्यापक पाठ्यक्रम है।
  • आईसीएसई अंग्रेजी भाषा को अधिक महत्व देता है क्यूंकि इसमें भारत के साथ साथ दूसरे देशो के स्टूडेंट में शिक्षा ग्रहण करते है इसलिए इंग्लिश जो international language का use ज्यादा होता है,लेकिन सीबीएसई में ऐसा नहीं है।

CBSE Board

सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) मुख्यत भारत सरकार द्वारा संचालित होने वाली शिक्षक संस्था है। यह सरकारी और निजी स्कूलों को शिक्षा को बढ़वा देने के लिए मान्यता प्रदान करवाती है। इस CBSE के अंतर्गत सभी केंद्रीय विद्यालय , जवाहर नवोदय विद्यालय और निजी स्कूल भी शामिल हैं।

CBSE Board की 10 और 12 कक्षा की परीक्षाएं हर साल March के महीने में होती हैं। CBSE बोर्ड का उद्देश्य बच्चो के चरित्र और बुद्धि का विकास करना है।

FAQs ICSE (Indian Certificate of Secondary Education )

Where to find ICSE Schools?

ICSE से मान्यता प्राप्त स्कूल भारत में ही नहीं बल्कि दूसरे देशो में भी है। इसलिए इन स्कूलो की जानकारी आपको आसानी से ICSE की offical वेबसाइट पर मिल जायगी। इसमें आपको स्कूल लोकेटर का एक option मिलेगा जिससे आपको ICSE के स्कूल खोजने में आसनी होगी। अधिकांश आईसीएसई स्कूल लखनऊ, मुंबई और कोलकाता में पाए जा सकते हैं।

Who can appear for ICSE Examinations?

CISCE के अभी की पौलिसी में केवल 10 वीं कक्षा के छात्र जो CISCE से registerd स्कूल ही पूर्णकालिक पाठ्यक्रम में भाग ले रहे हैं, और ICSE Exams में भाग ले सकते है। छात्र किसी भी जाति, पंथ, धर्म, संप्रदाय, लिंग, जनजाति या जाति से हो इन परीक्षाओं में भाग ले सकता हैं।लेकिन वही छात्र उपस्थित ले सकता है जिसने आपने स्कूल के एग्जाम में न्यूनतम 75 % marks प्राप्त किये होंगे।

Where to check ICSE Results?

ICSE का results चेक करने के लिए आपको ICSE की offcial वेबसाइट पर जाना होगा।

Is ICSE more difficult than CBSE?

ICSE में आपको बहुत सारे subject और exams मिलेंगे और उसमे केवल आपको इंग्लिश में ही पढ़ाई करने का option मिलता है जबकि CBSE में आपको English ,Hindi दोनों language में पड़ने का option मिलता है तो मेरे हिसाब से ICSE तोडा मुश्किल है

Final Word

दोस्तों में उम्मीद करता हु आपको ICSE Full Form और What is the full form of ICSE? की पूरी जानकारी मिल गयी होगी। इस पोस्ट में मैंने What is difference between ICSE & CBSE? के topic को भी cover ककर दिया ताकि स्टूडेंट को ये समझने में आसानी हो की हम दोनों में से किस को सेलेक्ट करने आपने carrer बनने के लिए। अगर कोई सुझाव या अन्य जानकारी मेरे साथ साझा करना चाहते है तो कमेंट बॉक्स आपके लिए ओपन है।