Saturday, February 24, 2024

LATEST UPDATES

UPSC Civil Services Exam 2024: प्रेलिम्स के लिए सुझाव

- Advertisement -

UPSC सिविल सेवा प्रीलिम्स परीक्षा का आयोजन 26 मई 2024 को होने का निर्धारण किया गया है। अधिकांश आवेदक उन लोगों की ओर देखते हैं जिन्होंने सीएस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास किया है। यहां कुछ सिविल सेवकों के प्रैक्टिकल सुझाव हैं, जो उनकी तैयारी रणनीति और असफलता के सामने कैसे मुकाबला करें, पर।

  1. सिलेबस को ध्यान से पढ़ें: पहला कदम हमेशा सिलेबस को समझना होता है। यह आपको यह देखने में मदद करेगा कि कौन-कौन से विषयों पर अधिक ध्यान केंद्रित करना है।
  2. समय का सही उपयोग करें: तैयारी के लिए समय का उचित प्रबंधन करना महत्वपूर्ण है। आपको हर विषय के लिए समय देना चाहिए, और विशेष रूप से महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।
  3. पूर्व वर्षों के प्रश्न पत्रों का अध्ययन: पूर्व वर्षों के प्रश्न पत्रों का अध्ययन करना आपको परीक्षा का पैटर्न समझने में मदद करेगा और आपको सेल्फ-एसेसमेंट करने का अवसर देगा।
  4. स्वास्थ्य का ख्याल: तैयारी के दौरान अच्छे स्वास्थ्य का ख्याल रखना बहुत अहम है। नींद, आहार, और नियमित व्यायाम से आपकी मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करेगा।
  5. असफलता का सामना करना: अगर कभी आपको किसी भी स्टेज पर असफलता का सामना करना पड़ता है, तो इसे एक सीख के रूप में देखें और उससे आगे बढ़ें। असफलता से सिख कर आप अगली बार और भी मजबूती से काम कर सकते हैं।

Current Affairs preparation

Current Affairs सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है, क्योंकि प्रश्नों के आस-पास के कई मुख्य विषय देश और दुनिया की चर्चाओं से उत्पन्न होते हैं। यह एक ऐसा तैयारी का हिस्सा भी है जो परीक्षा सफलता प्राप्त करने के बाद भी जारी रखना होगा।

Previous year question papers are the key

पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र सीधे संदर्भ में से पढ़ा जाना चाहिए क्योंकि ये छात्रों को परीक्षा के पैटर्न, प्रश्नों के ढांचे, और महत्वपूर्ण विषयों के साथ सकारात्मक परिचिति प्रदान करते हैं। ये प्रश्न पत्र छात्रों को उन चुनौतियों का सामना करने में मदद करते हैं जो एक्जाम के दौरान उत्पन्न हो सकती हैं और उन्हें आत्म-मूल्यांकन करने का अवसर देते हैं। इन प्रश्न पत्रों का सीधा हल करना और समय प्रबंधन करना छात्रों को प्राथमिकताएं सही समझने में मदद कर सकता है, जिससे वे परीक्षा के दिन आत्मविश्वास से भरपूर हो सकते हैं।

- Advertisement -

कुछ विशेषज्ञ सुझाव देते हैं कि कम से कम UPSC Mains परीक्षा के लिए पिछले 5 वर्षों के पेपर्स को अच्छे से छानबीन करना चाहिए। “चाहे कोचिंग संस्थान आपको किसे देखने या पेपर के पैटर्न को ‘पूर्वानुमान’ करने का सुझाव देते हों, आपकी तैयारी केवल तब पूरी सुरक्षित होगी जब आप खुद पिछले पेपर्स के माध्यम से गुजर रहे हों,” उनका यह भी अभिवादन है।

मनोरंजन